Home » Blog » What is Vishnu Puran?

What is Vishnu Puran?

विष्णु पुराण क्या है?

by Inkless Diary
417 views

What is Vishnu Purana in Hindi And English?

(3) विष्णु पुराण :-   तीसरा पुराण हैं विष्णुपुराण, जिसमें छः अँश तथा तेइस हजार श्र्लोक हैं, इस ग्रंथ में भगवान् श्री विष्णुजी, बालक ध्रुवजी तथा कृष्णावतार की कथायें संकलित हैं, इस के अतिरिक्त सम्राट पृथुजी की कथा भी शामिल है, जिसके कारण हमारी धरती का नाम पृथ्वी पडा था, इस पुराण में सू्र्यवँशीयों तथा चन्द्रवँशीयों राजाओं का सम्पूर्ण इतिहास है।

उत्तरं यत्समुद्रस्य हिमाद्रेश्चैव दक्षिणम्।

वर्षं तद भारतं नाम भारती यत्र सन्ततिः।।

भारत की राष्ट्रीय पहचान सदियों पुरानी है, जिसका प्रमाण विष्णु पुराण के इस श्लोक में मिलता है, साधारण शब्दों में इस का अर्थ होता है कि वह भूगौलिक क्षेत्र जो उत्तर में हिमालय तथा दक्षिण में सागर से जो घिरा हुआ है, यही भारत देश है तथा उस में निवास करने वाले हम सभी जन भारत देश की ही संतान हैं, भारत देश और भारत वासियों की इस से स्पष्ट पहचान और क्या हो सकती है? विष्णु पुराण वास्तव में ऐक ऐतिहासिक ग्रंथ है।

(3) Vishnu Purana :-
The third Purana is Vishnupuran, which has six parts and twenty three thousand verses, in this book the stories of Lord Shri Vishnuji, child Dhruvaji and Krishnavatar are compiled, apart from this the story of Emperor Prithuji is also included, due to which the name of our earth was named Prithvi. In this Purana, there is a complete history of the Suryavanshis and Chandravanshi kings.

Uttaram Yasamudrasya Himadreschaiva Dakshinam.
Varsam tad bharatam naam bharti yatra santatih..

The national identity of India is centuries old, the evidence of which is found in this verse of Vishnu Purana, in simple words it means that the geographical area which is surrounded by the Himalayas in the north and the ocean in the south, this is the country of India and All of us living in it are children of the country of India, what can be a clear identification of the country of India and the people of India from this? Vishnu Purana is actually a historical text.

You may also like