Home » Blog » What is Shiva Puran?

What is Shiva Puran?

शिव पुराण क्या है ?

by Inkless Diary
322 views

What is Shiva Puran Hindi and English?

(4) शिव पुराण :-
चौथा पुराण हैं शिवपुराण जिसे आदर से शिव महापुराण भी कहते हैं, इस महापुराण में चौबीस हजार श्र्लोक हैं, तथा यह सात संहिताओं में विभाजित है, इस ग्रंथ में भगवान् शिवजी की महानता तथा उन से सम्बन्धित घटनाओं को दर्शाया गया है इस ग्रंथ को वायु पुराण भी कहते हैं, इसमें कैलास पर्वत, शिवलिंग तथा रुद्राक्ष का वर्णन और महत्व विस्तार से दर्शाया गया है। सप्ताह के सातों दिनों के नामों की रचना, प्रजापतियों का वर्णन तथा काम पर विजय पाने के सम्बन्ध में विस्तार से वर्णन किया गया है I
सप्ताह के दिनों के नाम हमारे सौर मण्डल के ग्रहों पर आधारित हैं, और आज भी लगभग समस्त विश्व में प्रयोग किये जाते हैं, भगवान् शिवजी के भक्तों को श्रद्धा और भक्ति से शिवमहापुराण का नियमित पाठ करना चाहिये भगवान् शंकरजी बहुत दयालु और भोले है, जो भी इस शीव पुराण को भाव से पढ़ता है उसका कल्याण निश्चित हैं।

(4) Shiva Purana :-

The fourth Purana is Shiv Puran, which is also called Shiva Mahapuran with respect, this Mahapuran has twenty four thousand verses, and it is divided into seven Samhitas, in this book the greatness of Lord Shiva and the events related to him are depicted, this book is called Vayu Purana. It is also said that in this the description and importance of Kailas Mountain, Shivling and Rudraksh has been shown in detail. The composition of the names of the seven days of the week, the description of Prajapatis and the victory over Kama have been described in detail.
The names of the days of the week are based on the planets of our solar system, and are used almost all over the world even today. Devotees of Lord Shiva should regularly recite Shiva Mahapuran with reverence and devotion. Lord Shankar is very kind and innocent, who One who reads this Shiva Purana with a sense of humor, his welfare is certain.

You may also like